जैन धर्म : शिक्षाएँ एवं सिद्धांत | Jainism in Hindi

 जैन धर्म : शिक्षाएँ एवं सिद्धांत

प्रिय, पाठकों इस लेख में हमने जैन धर्म : शिक्षाएँ एवं सिद्धांत के बारे में जानकारी प्रदान की है। 6 वीं शताब्दी के ब्राह्मणवाद के खिलाफ विद्रोह के परिणामस्वरूप जैन धर्म भी एक गैर ब्राह्मणी समाज है।
जैन धर्म : शिक्षाएँ एवं सिद्धांत | Jainism in Hindi


जैन धर्म से सम्बन्धित महत्वपूर्ण बिंदु

* जैन धर्म का जन्म ऋग्वैदिक काल में हुआ था। 

* जैन धर्म के सब से पहले तीर्थंकर ऋषभ देव थे। वे शाही वंश से सम्बन्धित थे।

* ऋषभ देव अपना राज्य अपने बेटे भरत को सौंपकर जैन धर्म का प्रचार करने के लिए चले गए थे। 

* जैन धर्म के 23वें तीर्थकर पार्श्वनाथ थे।

* पार्श्वनाथ को 83 दिनों की घोर तपस्या के पश्चात् सच्चे ज्ञान की प्राप्ति हो गई थी, जिनको 'कैवल्य' कहा जाता था।

* महावीर स्वामी का नाम वर्धमान था। इनका जन्म 599 ई. पूर्व वैशाली बिहार राज्य कुण्डग्राम में हुआ था।

* महावीर स्वामी जैन धर्म के चौबीसवें तीर्थंकर थे।

*  महावीर के पिता का नाम सिद्धार्थ था जो लिच्छवी गणतन्त्र के प्रधान थे।

*  लिच्छवी वंश की राजकुमारी त्रिशला महावीर की माता थी।

* महावीर का विवाह यशोदा नामक राजकुमारी से हुआ था।

*  महावीर की बेटी का नाम अनोज्जा या 'प्रियदर्शना' था।

*  प्रियदर्शना का विवाह जमाली नामक व्यक्ति से हुआ था, जो बाद में महावीर का शिष्य बन गया था।

* 'नन्दी वर्धन' ने (जो वर्धन का बड़ा भाई था) की राय से तीस वर्ष की आयु में घर त्यागा था।

*  महावीर को बारह वर्ष पाँच मास और पन्द्रह दिन की तपस्या के बाद तेरहवें वर्ष की वैशाख की दसवीं को ज्ञान प्राप्त हुआ था।

* ज्ञान प्राप्ति के बाद महावीर को 'जिन्न' के नाम से सम्मानित किया गया था। जिसका अर्थ है विजेता। 

* महावीर के शिष्यों को निरग्रन्थ अथवा 'बन्धनों से मुक्त' कहा जाता था।

* महावीर की अजातशत्रु से मुलाकात हुई थी।

* अजातशत्रु ने भी जैन धर्म अपनाया था।

* 527 ई. पूर्व में पावा नामक स्थान पर राजगृह के पास (पटना जिले में) 72 वर्ष की आयु में महावीर की मृत्यु हुई थी।

* जैन धर्म की शिक्षाएं अथवा सिद्धान्त 

जैन धर्म की शिक्षाएं और सिद्धान्त इस प्रकार से है :-

i) मोक्ष

ii) अहिंसा

iii) घोर तपस्या और आत्म त्याग

iv) ईश्वर की शक्ति से इन्कार

v) पुनर्जन्म और कर्म सिद्धान्त पर विश्वास

vi) जाति पाति में अविश्वास

vii) यज्ञ, बलि और कर्मकाण्डों में अविश्वास

viii) चौबीस तीर्थंकरों की पूजा

ix) वेदों में विश्वास नहीं

x) संस्कृत की पवित्रता में अविश्वास

xi) ब्राह्मणों के विरुद्ध

xii) हिन्दू धर्म के कुछ सिद्धान्तों के विरुद्ध

xiii) जैन तर्क शास्त्र

xiv) सदाचारी जीवन

xv) ज्ञान का सिद्धान्त :

a) मति ज्ञान              b) श्रुति ज्ञान

c) अवधि ज्ञान           d) कैवल्य ज्ञान

e) मन सम्बन्धि ज्ञान नहीं

xvi) पाँच अणुव्रत :

a) अहिंसा अणुव्रत         b) सत्य अणुव्रत

c) ब्रह्मचारी अणुव्रत       d) असत्य अणुव्रत

e) अपरिग्रह अणुव्रत

xvii) स्त्री की स्वतन्त्रता

* मैसूर में स्थित 'श्रावण बेल गोला' जैन का चौथी ईस्वी पूर्व में प्रचार का केन्द्र था।

* जैन धर्म के दो धड़

जैन धर्म के अनुयायी दो धड़ों में विभाजित हो गए थे:

i) श्वेताम्बर सम्प्रदाय

ii) दिगम्बर सम्प्रदाय

* श्वेताम्बर सम्प्रदायः जो सफेद वस्त्र पहनते हैं।

* दिगम्बर सम्प्रदाय : जो जैनी नंगे रहते हैं।

* 'अंग' जैन धर्म का महान् ग्रन्थ है।

 * जैन धर्मग्रन्थों की रचना मुख्यतया प्राकृत भाषा में हुई।

 *  महावीर के दिए मौलिक सिद्धान्त 14 प्राचीन ग्रंथों में हैं। जिन्हें पूर्व कहते हैं। बाद में इन ग्रंथों को 12 अंगों तथा 12 उपअंगों में विभाजित कर दिया गया।

*  जैन धर्म का दिलवाड़ा मन्दिर विश्व प्रसिद्ध मन्दिर है।

जैन धर्म के कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न

Q.1 जैन धर्म के सबसे पहले तीर्थकर कौन थे?

A.   ऋषभ देव
B.   महावीर
C.  पार्श्वनाथ
D.  भरत


Q.2 जैन धर्म के 23वें तीर्थकर कौन थे?

A.   महावीर
B.  जमाली
C.  पार्श्वनाथ
D.  ऋषभ देव


Q.3 महावीर स्वामी का जन्म कब हुआ था ?

A.  1599 ई. पू.
B.  567 ई. पू.
C.  566 ई. पू.
D.  600 ई. पू.


Q.4 ज्ञान प्राप्ति के बाद महावीर को किस नाम से सम्मानित किया गया था ?

A.  जिन्न
B.  ज्ञानी
C.   सदाचारी
D.   राजा


Q.5 महावीर जैन धर्म के कितनवें तीर्थंकर थे?

A.  21
B.  22
C.  23
D.  24


Q.6 जैन धर्म का महान् ग्रन्थ क्या था ?

A.  अंग
B.  श्वेताम्बर
C.  कैवल्य
D.  ब्रह्मचारी


Q.7 किस शासक के शासनकाल में महावीर और बुद्ध ने अपने सिद्धान्तों के प्रवचन दिए थे ?

A.  बिंबिसार
B.   उदयी
C.  अजातशत्रु
D.  अशोक


Q.8 जैन धर्म का प्रसिद्ध मन्दिर कौन सा है?

A.  दिलवाड़ा
B.   द्वारका
C.  माऊंट आबू
D.   स्वर्ण मन्दिर


Q.9 दिलवाड़ा मन्दिर कहाँ स्थित है ?

A.  पूरी
B.  मद्रास
C.  मांऊट आबू
D.  दिल्ली


Q.10 जैन धर्म के अनुयायी सफेद वस्त्र पहनते थे, वे क्या कहलाते थे?

A.  दिगम्बर
B.   श्वेताम्बर
C.  आगम्बर
D.  पीताम्बर


Q.11 महावीर की मृत्यु कब हुई थी ?

A.  525 ई.पू.
B.   526 ई.पू.
C.  527 ई.पू.
D.  528 ई.पू.


Q.12 जैन धर्म का चौथी ईस्वी पूर्व में प्रचार का केन्द्र कौन सा स्थान था ?

A.  श्रावण बेल गोला
B.  कपिलवस्तु
C.  सारनाथ
D.  लुम्बिनी


Q.13 जैन धर्म की स्थापना किसने की थी ?

A.  महावीर
B.   भरत
C.  पार्श्वनाथ
D.  ऋषभदेव


Q.14 जैन धर्म के लोग महावीर को क्या मानते थे?

A.  शासक
B.  शिक्षक
C.   दुष्ट
D.  तीर्थकर


Post a Comment

Previous Post Next Post