कौवे के बारे में रोचक तथ्य और जानकारी | Crow In Hindi : Facts And Information

Crow In Hindi : Facts And Information

Crow in Hindi : कौआ को प्रकृति को स्वच्छ रखने वाला पक्षियों में गिना जाता है। क्योंकि यह भोजन के रुप (food for crow) में सड़ें-गले भोजन एवं कोंटों को खाकर वातावरण को स्वच्छ बनाए रखता है। कौआ एक सर्वाहारी पक्षी है।

कौवा Corbids family से आता है, जिसमें कौवे के अलावा Nutcrackers, Ravens, Rooks, Magpies जैसी प्रजातियां शामिल हैं। कौवे के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी(Crow in Hindi) हम आपको इस लेख में दे रहे हैं।

कौवे के बारे में रोचक तथ्य और जानकारी | Crow In Hindi : Facts And Information

कौआ के लगभग 40 से अधिक प्रजातियां है, जो दुनिया के अलग-अलग भागों में पाया जाता है। इतना ही नहीं बल्कि कौआ के प्रजातियों का वजन एक दूसरे से काफी भिन्न होता है।

{tocify} $title={विषय सूची}

विश्व मे कौवे की कितनी प्रजातियां पाई जाती हैं?

दुनिया भर में कौवे (Crow) की लगभग 40 प्रजातियाँ पाई जाती हैं।
आप  लेखों, घटनाओं, लोगों, खेल, तकनीक के बारे में और 10 पंक्तियाँ पढ़ सकते हैं  

कौवे का आकार कैसा होता है?

प्रजाति अनुसार कौवे का आकार भिन्न-भिन्न होता है। अमेरिकन क्रो (American Crow) 17.5 इंच (45 सेंटीमीटर) के और फ़िश क्रो (Fish Crow) 19 इंच (48 सेंटीमीटर) के होते हैं. काला कौवा (Raven) आकार में काफ़ी बड़ा होता है, लगभग 27 इंच (69 सेंटीमीटर)।

भारत मे कौवे की कितनी प्रजातियां पाई जाती हैं?

भारत में कौवे की 6 प्रजातियाँ पाई जाती हैं। इनमें से छोटा घरेलू कौवा (House Crow), जंगली कौवा (Jungle Crow) और काला कौवा (Raven) ही अधिकतर दिखाई पड़ते हैं।

कौवे का वजन कितना होता है?

कौवे का वजन 12 से 57 औंस (337 से 1625 ग्राम) तक हो सकता है।

विश्व में कौवे कहाँ नहीं पाए जाते?

अंटार्कटिका को छोड़कर दुनिया के हर महाद्वीप में कौवे पाए जाते हैं।

कौवे का जीवन काल कितना होता है?

कौवे का जीवनकाल उसके रहने के स्थान के आधार पर भिन्न-भिन्न होता है. जंगलों में कौवों का जीवनकाल 15 से 20 वर्ष तक का होता है। देखरेख में रखे जाने पर वे लगभग 30 वर्ष तक जीवित रह सकते हैं। जंगलों में पाए जाने वाले सबसे पुराने कौवे 17 साल तक जीवित रहे थे। एक जानकारी अनुसार न्यूयॉर्क में मनुष्य द्वारा देखरेख किये जाने वाला एक कौवा 59 साल तक जीवित रहा था।

कौवे की सबसे छोटी प्रजाति कौन सी है?

दुनिया में कौवे की सबसे छोटी प्रजाति मेक्सिको की Dwarf Jay है. इसकी लंबाई 20-23 सेंटीमीटर और वजन मात्र 41 ग्राम होता है।

कौवे की सबसे बड़ी प्रजाति कौन सी है?

दुनिया में कौवे के सबसे बड़ी प्रजाति Thick-billed Raven है, जो इथोपिया में पाई जाती है. इसकी लंबाई 65 सेंटीमीटर और वजन 1.5 किलो तक होता है।

सबसे अधिक कौवों को जन्म देने वाली मादा कौआ का क्या नाम था?

Big Bertha (17 मार्च 1945 से 31 दिसंबर 1993) नामक मादा कौवे के नाम जीवन भर प्रजनन का गिनीज़ बुक वर्ल्ड रिकॉर्ड (Guinness Book Of World Record) हैं, जिसने लगभग 49 वर्ष तक के जीवन में 39 कौवों को जन्म दिया था।


कौवे के समूह को क्या कहा जाता है?

कौवे के समूह को ‘murder’ कहा जाता है. वैकल्पिक रूप से इसे horde या flock कहा जा सकता है।

कौवे कैसे प्राणी हैं?

कौवे सर्वाहारी (Omnivorous) होते हैं। वे अपने आहार में 1000 से अधिक खाद्य पदार्थ खा सकते हैं, जिनमें कीड़े-मकोड़े, मांस से लेकर फल और बीज के साथ-साथ मृत तथा सड़े हुए जीव भी शामिल हैं।

कौवे चेतावनी देने के लिए कितने प्रकार की आवाजें निकालते हैं?

कौवे चेतावनी देने के लिए 250 प्रकार की विभिन्न आवाज़ें निकालते हैं. हर किसी के लिए भिन्न आवाज़, जैसे बिल्लियों के लिए अलग, बाज़ के लिए अलग और इंसानों के लिए अलग।

क्या कौवे मनुष्य के चेहरे को याद रखते हैं?

कौवे मनुष्यों के चेहरे को याद रख सकते हैं। वे उनके प्रति बैर भावना भी रख सकते हैं।

क्या कौवे अपने साथी कौवे का अंतिम संस्कार करते हैं?

कौवे अपने साथी कौवे का अंतिम संस्कार करते हैं। अक्सर पड़ोसी कौवे, जो मृतक कौवे को नहीं जानते या उसे मरते हुए भी नहीं देखा, वे भी उसके अंतिम संस्कार में भाग लेते हैं।

कौवे और उल्लू क्या एक दूसरे से घृणा करते हैं?

कौवे (Crow) और उल्लू (Owl) एक-दूसरे से घृणा करते हैं और जब भी एक-दूसरे के सामने पड़ते हैं, हमला कर देते हैं।

क्या कौवे दूसरे के बच्चों को पालते हैं?

कौवे उन कौवे के बच्चों को भी पालते हैं, जिन्हें उन्होंने जन्म नहीं दिया होता। एक तरह से कह सकते हैं कि वे बच्चे को गोद लेकर पालते हैं। ऐसे कौवे के बच्चे भी अपने दत्तक माँ और पिता के प्रति कृतज्ञ होते हैं। जब वही माता-पिता नए बच्चे जन्मते हैं, तो गोद लिये हुए बच्चे नए जन्मे बच्चे की देखभाल के लिए घोंसले के आस-पास रहते हैं।

कौवे अपने जीवन काल में कहाँ कहाँ घूमते हैं?

अधिकांश कौवे जीवन भर अपने जन्म स्थान के आस-पास ही रहते हैं और आसानी से पलायन नहीं करते।लेकिन अमेरिकन कौवे (American Crow) सर्दियों के मौसम में गर्म स्थानों पर पलायन कर जाते हैं।

कौवे अपना घोंसला कहाँ बनाते हैं?

जहाँ उपयुक्त लगे कौवे वहाँ घोंसले बना लेते हैं। जैसे खंभे, पेड़ की डाली या चट्टानों के किनारे. नर और मादा दोनों मिलकर टहनियों, बाल और छाल से घोंसला बनाते हैं और अंडे देने के बाद घोंसले में ही मादा अंडों को सेती है।

कौवे एक बार में कितने अंडे देते हैं?

कौवे एक बार में 5 से 6 अंडे देते हैं और उन्हें 20 से 40 दिनों तक सेते है। ये अंडे हरे या जैतून के रंग के गहरे धब्बेदार होते हैं।

वयस्क और किशोर कौवे में क्या अंतर है?

वयस्क कौवे और किशोर कौवे में उनकी काली आँखों से अंतर किया जा सकता है। किशोर कौवे की आँखें हल्की नीली होती हैं। उनके शरीर पर अधिक भूरे पंख होते हैं, वहीं वयस्क कौवे के शरीर पर बैगनी चमक और पंखों पर हरी-नीली चमक होती है।


क्या कौवा एक बुद्धिमान पक्षी है?

कौवे बेहद बुद्धिमान पक्षी हैं। तोते को छोड़ दिया जाये, तो सभी पक्षियों में सबसे बड़ा दिमाग कौवे का होता है। कौवे का मस्तिष्क अनुपात (brain ratio) चिंपैंजी (chimpanzee) के बराबर होता है। कौवे के स्मृति (memory) उत्कृष्ट होती है। वे बाद में खाने के लिए भोजन छुपाकर रखते हैं। कभी-कभी वे 2-3 बार भोजन को इधर-उधर छुपाते हैं और हमेशा याद रखते हैं कि उन्होंने भोजन कहाँ छुपाया था।

भारत में कौवों को भोजन क्यों कराया जाता है?

भारत में पितर पक्ष में पूर्वजों को भोजन कराने के तौर पर पहले कौवों को भोजन कराया जाता है। मान्यता है कि मृत्यु उपरांत व्यक्ति सबसे पहले कौवे का जन्म लेता है. कौवों को भोजन करना उन पूर्वजों को भोजन कराने के तुल्य माना जाता है।

सुबह सुबह कौवा देखने से क्या होता है?

सुबह-सुबह घर के मुंडेर पर कौआ बोलता दिखे तो इसे शुभ संकेत माना जाता है. ऐसा कहा जाता है कि सुबह-सबह कौवा के बोलने से घर में कोई मेहमान आ सकता है।

जोड़ा कौवा देखने से क्या होता है?

स्वपन शास्त्र के अनुसार, अगर सपने में आप कौआ को अपने साथ देखते हैं तो यह शुभ संकेत है। इसका मतलब होता है कि आप अपने जीवन में कुछ बड़ा निर्णय लेने वाले हैं और यह निर्णय आपको लाभ देगा।

कोयल अपने अंडे कहाँ देती है?

ज्यादातर मादा कोयल अपने अंडे कौवे के घोंसलों में देती है।

Post a Comment

Previous Post Next Post