उपसर्ग || Upasarg in Hindi

प्रिय, पाठकों इस पोस्ट में हमने उपसर्ग ( Upsarg  in Hindi) के बारे में जानकारी प्रदान की है। हमने यहाँ उपसर्ग किसे कहते हैं (What is Upsarg  in Hindi) , संस्कृत, हिंदी, उर्दू और अंग्रेजी के उपसर्ग ,उपसर्ग का अर्थ (Upsarg  Definition in Hindi) और उनकी उदाहरण सहित व्याख्या की है। 
उपसर्ग(Prefixes) के बारे में पढ़ने से पहले हमें शब्दांश के बारे में जानकारी लेने जरूरी है।
यहाँ उपसर्ग के बारे में जो जानकारी दी गई है वह इस प्रकार है -
  • शब्दांश किसे कहते हैं?
  • शब्दांश के भेद
  • उपसर्ग किसे कहते है (Upsarg kise kahte hain)
  • संस्कृत के उपसर्ग,उनके अर्थ और उदाहरण
  • हिंदी के उपसर्ग,उनके अर्थ और उदाहरण
  • उर्दू के उपसर्ग,उनके अर्थ और उदाहरण
  • अंग्रेजी के उपसर्ग,उनके अर्थ और उदाहरण

शब्दांश किसे कहते है ( Shabdansh in Hindi)

शब्दांश :- जो ध्वनि या ध्वनि-समूह स्वतन्त्र रूप से अर्थ प्रदान नहीं करती, बल्कि दूसरे शब्दों के साथ मिलकर अर्थ देती है उसे शब्दांश कहते हैं । शब्दांशों का अपना कोई अर्थ नहीं होता, लेकिन वे अन्य शब्दों के साथ मिलकर सार्थक बन जाते हैं । 
इन शब्दांशों में से कुछ उपसर्ग होते हैं और कुछ प्रत्यय । अतः शब्दाशों के दो भेद हैं :-
1. उपसर्ग 
जैसा कि आपको विदित है हम यहाँ पर उपसर्ग के बारे में चर्चा कर रहे हैं।
उपसर्ग || Upasarg in Hindi || Prefixes in Hindi || upasarg kise kahte hain


 उपसर्ग किसे कहते हैं ( Prefixes in Hindi)

उपसर्ग (Prefixes) :- उपसर्ग शब्द की व्युत्पत्ति है उप पूर्वक 'सृज्' धातु से उपसर्ग शब्द बना है। जिसका अर्थ है- जो शब्द से पहले लगकर एक नए शब्द को बनाए (अर्थात् उप = समीप में, सर्ग = बनाए) । 

ध्यान दें - उपसर्ग शब्द से पहले और प्रत्यय शब्द के बाद में लगते हैं।
अतः उपसर्ग की परिभाषा होगी :
उपसर्ग की परिभाषा :- जो शब्दांश शब्दों से पूर्व जुड़कर उनके अर्थ में कुछ विशेषता उत्पन्न करें, उन्हें उपसर्ग कहते हैं।
जैसे :- 
  • हार शब्द से पहले प्र उपसर्ग लगने से प्रहार, 
  • 'वि' से विहार, 
  • 'सम्' से संहार, 
  • '' से आहार, 
  • 'परि' से परिहार आदि शब्द विशेष अर्थों को बताते हैं ।
कभी शब्दों से पहले एक से अधिक उपसर्ग भी लगते हैं।
जैसे :-
  • प्रति + उप+ कार = प्रत्युपकार
  • सु + वि + अव + हार = सुव्यवहार
हिन्दी भाषा में संस्कृत के उपसर्गों का अधिक प्रयोग होता है । 
जैसे :-

संस्कृत के उपसर्ग ( Prefixes of Sanskrit)

संस्कृत के कुछ उपसर्ग, उनके अर्थ तथा उदाहरण हमने यहाँ बताए हैं :-
उपसर्गअर्थउदाहरण
प्र (अधिक, आगे)प्रक्रिया, प्रवाह, प्रबल, प्रगति, प्रयोग, प्रदर्शन, प्रमाण, प्रसिद्धि, प्रख्यात ।
परा(पीछे, उल्टा )पराक्रम, पराधीन, पराजय, पराभव, परामर्श, परास्त।
अप(बुरा, हीन)अपकार, अपयश, अपहरण, अपमान, अपव्यय, अपवाद ।
सम् (पूर्णता, अच्छा, साथ)सम्मान, संगम, संहार, संवाद, संवदेना, समुचित, संगति, सम्बोधन, सम्मति ।
अनु(पीछे)अनुकम्पा, अनुमान, अनुकूल, अनुराग, अनुकरण, अनुज, अनुचर, अनुशासन, अनुरोध ।
अव(बुरा, हीन)अवगुण, अवशेष, अवनति, अवसान, अवकाश, अवतार।
निस्(निषेध, रहित)निष्काम, निश्चल, निश्चय, निःस्वार्थ, निस्सन्देह, निष्कपट ।
निर्, निः (रहित, बिना)निरपराध, निर्धन, निरभिमान, नीरोग, निराशा, निर्विहन, निर्दय, निर्मल, निर्वाह, निर्जन, निर्गुण, निदोष ।
दुर् (बुरा, कठिन)दुर्गति, दुर्बल, दुर्लभ, दुर्भाग्य, दुराचार ।
दुस्(कठिन)दुस्तर, दुस्साहस, दुस्साध्य ।
वि (अभाव, विशेष)विभाग, विदेश, वियोग, विराम, विरोध, विकल ।
(तक, पूर्ण)आक्रमण, आहार, आजीवन, आचरण, आजन्म, आमरण।
नि (अभाव, अधिक )निवारण, निवास, निरोध ।
अधि (ऊपर, श्रेष्ठ) अधिकार, अध्ययन, अध्यक्ष, अधिपति, अधिकृत, अधिनायक।
सु(अच्छा, सहज सुकर्म, सुगम, सुकर, सुलभ, सुशील, सुमनोहर ।
उत् (ऊपर, श्रेष्ठ)उत्थान, उद्धार, उत्तम, उयोग, उत्कर्ष, उन्नति ।
(सहित, के साथ) सपरिवार, सकुल, सम्मान ।
कु (बुरा)कुरूप, कुकृत्य, कुपात्र ।
अभि(समीप, चारों ओर, सामने)अभिमुख, अभियोग, अभिनेता, अभिमान, अभिनय, अभिज्ञान ।
प्रति(प्रत्येक, उल्टा, सामने)प्रतिदिन, प्रत्यक्ष, प्रतिकूल, प्रतिरोध, प्रतिनिधि ।
परि(पूर्ण, आसपास, चारों ओर) परिक्रमा, परिणाम, परिपूर्ण, परिपक्व, परिकल्पना, परिणति ।
उप(समीप, छोटा, गौण) उपवन, उपमन्त्री, उपहार, उपकार, उपनाम, उपकृत, उपयोग, उपचार, उपसचिव ।
अ, अन(निषेध)अनादि, अनन्त, अनर्थ, अनागत, अकाट्य, असाध्य ।
एक शब्द के साथ अनेक उपसर्ग का प्रयोग भी किया जाता है।
  • सु + सम् + गठित = सुसंगठित । 
  • निर् + अभि+ मान = निरभिमान । 
  •  सम् + आ + लोचना = समालोचना । 
  • प्रति + आ + लोचना = प्रत्यालोचना । 
  • प्रति + उप + कार = प्रत्युपकार । 
  • निः + आ + करण = निराकरण। 
  • प्रति + आ = प्रत्याघात। 
  • अधि+ अब + साय = अध्यवसाय। 
  • सु + प्रति + स्थित = सुप्रतिष्ठित । 
  • आ +वि: + भाव = आविर्भाव।

संस्कृत में कुछ अवयव भी उपसर्ग की भाँति प्रयुक्त होते हैं।
अव्ययअर्थउदाहरण
अध:(नीचे)अधःपतन, अधोगति, अधोलिखित ।
चिर(बहुत देर)चिरायु, चिरकाल, चिरस्थायी, चिरपरिचित ।
पुरा(पहले, पुराना)पुरातन, पुरातत्व ।
सह(साथ)सहपाठी, सहानुभूति, सहयोग, सहकारी ।
बहि:(बाहर)बहिर्गमन, बहिष्कार, बहिरंग, बहिर्मुख ।
पुनः(फिर)पुनर्मिलन, पुनरागमन, पुनर्जन्म ।
अलम्(बहुत, बस)अलंकार, अलंकरण, अलंकृत ।
अन्तः(भीतर)अन्तर्मन, अन्तर्धान, अन्तःकरण, अन्तरात्मा, अन्तर्राष्ट्रीय।
तिरः(निषेध)तिरस्कार, तिरोभाव, तिरोहित ।
प्राक्(पहले)प्राक्कथन, प्रागैतिहासिक ।

हिंदी के उपसर्ग ( Prefixes of Hindi)

 हिंदी के कुछ उपसर्ग, उनके अर्थ तथा उदाहरण हमने यहाँ बताए हैं :-
उपसर्गअर्थउदाहरण
(अभाव, निषेध)अलग, अटल, अछूत, अथाह, अजर, अभागा, अमर,अजान, अपढ़, अमोल ।
अन (अभाव, निषेध)अनहोनी, अनपढ़, अनमोल, अनबन, अनदेखी,अनजानी, अनमना, अनमेल, अनकहा, अनसुना, अनजान।
अध(आधा)अघखिला, अथपका, अधमरा, अधकचरा, अथखाया, अधसेरा, अधबीच ।
उन (एक कम) उन्नीस, उनचास, उनसठ ।
कु(बुराई, नीचता)कुचाल, कुचक्र, कुपूत, कुटुंग, कुठौर ।
नि (निषेध, अभाव) निकम्मा, निडर, निहत्था, निठल्ला, निधड़क, निगोड़ा, निपूता।
बिन (निषेध) बिनव्याहा, बिनजाना, बिनबोया, बिनदेखा, बिनचाहा, बिनबुलाया।
भर(पूरा)भरपेट, भरसक, भरमार, भरपूर ।
स, सु(अच्छा)सपूत, सुपुत्र, सुकन्या, सुफल, सुजान ।
चौ(चार)चौकन्ना, चौराहा, चौमासा, चौपाया, चौपाई ।

उर्दू के उपसर्ग ( Prefixes of Urdu)

उर्दू के कुछ उपसर्ग, उनके अर्थ तथा उदाहरण हमने यहाँ बताए हैं :-
उपसर्गअर्थउदाहरण
बे(बिना)बेईमान, बेकार, बेचैन, बेगुनाह, बेहोश ।
बद(बुरा)बदनाम, बदसूरत, बदबू, बदतमीज, बदमाश ।
कम(थोड़ा)कमबख्त, कमजोर, कमसिन, कमखर्च ।
ला(बिना)लावारिस, लाजवाब, लाचार, लापरवाह ।
ना(नहीं)नालायक, नाखुश, नासमझ, नागवार ।
खुश(अच्छा) खुशदिल, खुशबू, खुशखबरी, खुशनसीब ।
गैर(भिन्न)गैरहाजिर, गैरकानूनी, गैरसरकारी ।
हम(साथ)हमसफर, हमजोली, हमदम, हमउम्र, हमवतन ।
हर(सभी)हरएक, हरबड़ी, हरवक्त, हरहाल ।
दर(में)दरअसल, दरमियान, दरकार, दरगुज़र ।
ब,बा(ओर, साथ) बदौलत, बनाम, बाकायदा, बाइज्जत ।
बिला(बिना)बिलानामा, बिलावजह, बिलानागा ।
ऐन(ठीक, पूरा)ऐनवक्त, ऐनमौका।
सर(मुख्य)सरपंच, सरताज ।

अंग्रेजी के उपसर्ग ( Prefixes of English)

अंग्रेजी के कुछ उपसर्ग, उनके अर्थ तथा उदाहरण हमने यहाँ बताए हैं :-
उपसर्ग अर्थउदाहरण
सब(अधीन, नीचे) सब-जज, सब-कमेटी, सब-इंस्पेक्टर ।
डिप्टी (सहायक) डिप्टीमिनिस्टर, डिप्टीरजिस्ट्रार ।
वाइस (उप)वाइसचांसलर, वाइसप्रिंसिपल ।
जनरल(मुख्य)जनरल मैनेजर।
चीफ(मुख्य)चीफ मिनिस्टर, चीफ सेक्रेटरी ।

हम आशा करते हैं कि आपको पोस्ट उपसर्ग किसे कहते हैं || Prefixes in Hindi पसंद आई होगी।




Post a Comment

Previous Post Next Post