BDO: Block Development Officer | Full Form of BDO

 जैसा कि आप सभी की विदित है पंचायती राज एक तीन स्तरीय व्यवस्था है।ग्रामीण स्तर पर पंचायत, ब्लॉक स्तर पर पंचायत समिति और जिला स्तर पर जिला परिषद होती है।

आज के इस लेख में हम पंचायत समिति के कार्यकारी अधिकारी खण्ड विकास अधिकारी यानि कि Block Development Officer (BDO) के बारे में जानकारी प्रदान की है।

यहाँ BDO के बारे में जो जानकारी दी गई है वह इस प्रकार से है :-

  • BDO कौन होता है(Full form of BDO)
  • BDO की नियुक्ति कैसे होती है?
  • BDO के क्या कार्य होते हैं?

BDO: Block Development Officer | Full Form of BDO


BDO कौन होता है(Full form of BDO) :-

BDO यानि कि Block Development Officer हिंदी में  विकास खंड अधिकारी एक सरकारी कर्मचारी है। यह पंचायत समिति या ब्लॉक समिति का कार्यकारी अधिकारी भी होता है।

BDO की नियुक्ति :- 

कुछ प्रदेशों में खण्ड विकास अधिकारी का चयन लोक सेवा आयोग की संस्तुति के आधार पर होता है। प्रशासनिक सेवा से भी इस पद पर नियुक्ति की जाती है। यह राज्य का राजपत्र अधिकारी होता है। खण्ड विकास अधिकारी को प्रशिक्षण के दौरान इतिहास, ग्रामीण समस्याओं को हल करने तथा ग्रामीण विकास व योजना के सम्बंध में विस्तृत जानकारी दी जाती है।

BDO के कार्य :-

1. पंचायत संस्थाओं में सहयोग व तालमेल स्थापित करना।

2. विकास खण्ड में विकास कार्यक्रमों को चलाना व पूरा करना।

3. विकास कार्यों के लिए जिला तथा राज्य अधिकारियों से पत्राचार।

4. पंचायत समिति की बैठकों को बुलाना, कार्य सूची पेश करना।

5. समिति के अध्यक्ष को काम को सुचारू रूप से करने का परामर्श देना।

6. पंचायत या पंचायत समिति में होने वाली किसी भी अनियमितता की सूचना उच्च अधिकारियों को देना।

7. वह पंचायती संस्थाओं का कार्यकारी अधिकारी है अतः संस्था के प्रशासकीय कर्तव्यों का निर्वहन वह स्वयं करता है।





Post a Comment

Previous Post Next Post