अनेकार्थक शब्द || Words With Different Meanings in Hindi

 प्रिय, पाठकों इस पोस्ट में हमने अनेकार्थक (अनेकार्थी) शब्दएक शब्द के अनेक अर्थ अर्थात  Words With Different Meanings के बारे में जानकारी प्रदान की है। हम कुछ ऐसे शब्दों को जानेंगे जो भाषा को अधिक प्रभावशाली बना देते हैं। कहने का अभिप्राय यह है कि भाषा में बहुत से ऐसे शब्द होते हैं जो भिन्न - भिन्न शब्दों को दर्शाते हैं ।

अनेकार्थक शब्द || Words With Different Meanings in Hindi


अनेकार्थी शब्द ( Words With Different Meanings) परिभाषा

अनेकार्थक शब्द का अर्थ है किसी शब्द के अनेक अर्थ होना । हिन्दी में ऐसे अनेक शब्द हैं, जिनके अनेक अर्थ होते हैं। यहाँ कुछ ऐसे बहु प्रचलित शब्द दिये जा रहे हैं जिनके अनेक अर्थ हैं ।

अनेकार्थी शब्दों की सूची

 यहाँ पर अनेकार्थक (Words With Different Meanings) शब्दों की एक सूची दी जा रही है जिससे आप अनेकार्थी शब्दों के बारे में अच्छी तरह समझ जाएँगे –

अनेकार्थक (Words With Different Meanings) सारणी-1

शब्दभिन्न - भिन्न अर्थ
अंकसंख्या, गोद, नाटक का अंक, अध्याय, चिह्न ।
अम्बरवस्त्र, आकाश।
अक्षरवर्ण, अविनाशी, मोक्ष, ईश्वर ।
अर्थधन, कारण, अभिप्राय।
अजब्रह्मा, शिव, बकरा।
अर्कसूर्य, आक, सौंफ आदि का भाप से खींचा हुआ रस ।
अदृष्टभाग्य, गुप्त, जो देखा न गया हो ।
अधरओंठ, पृथ्वी, और आकाश के बीच का भाग ।
अपवाद निंदा, कलंक, नियम के बाहर ।
अपेक्षा तुलना में, आशा, आवश्यकता ।
अतिथि मेहमान, साधु, यात्री, अपरिचित व्यक्ति ।
अनन्त विष्णु, आकाश अन्तहीन ।
आतुर विकल, रोगी, उत्सुक, अशक्त ।
आमआम का फल, सामान्य ।
आली सखी, पंक्ति, रेखा।
उपचारउपाय, सेवा, इलाज।
उत्तरजवाब, उत्तर दिशा।
कंचन सोना, काँच, निर्मल, धन-दौलत, नीरोग, स्वस्थ ।
कृष्ण काला, श्रीकृष्ण, एक पक्ष का नाम (कृष्ण पक्ष)
कनकधतूरा, सोना, गेहूँ।
कलसुन्दर, आराम, मशीन, बीता हुआ कल, आने वाला कल ।
कला अंश, एक विषय (आर्ट) कुशलता, शोभा, तेज, युक्ति ।
करटैक्स, हाथ, सूंड, किरण।
कक्षबगल, कमरा।
काम इच्छा, कामदेव, कार्य, वासना ।
कालसमय, मृत्यु।
कुशलचतुर, सुखी, सुरक्षित ।
कुलवंश, जाति, घर, गोत्र, सारा ।
कुंजरहाथी, बाल, श्रेष्ठ ।
कुटिलटेढा, घुंघराला, कपटी।

अनेकार्थक (Words With Different Meanings) सारणी-2

शब्दभिन्न - भिन्न अर्थ
कोषखजाना, फूल का भीतरी भाग ।
खरगधा, तिनका, तीक्ष्ण।
खेचरदेवता, ग्रह, पक्षी।
गणसमूह, मनुष्य, भूत-प्रेत, तीन वर्गों का समूह (छन्द शास्त्र) ।
गुरुश्रेष्ठ, अध्यापक, भारी, बड़ा, दो मात्राओं वाला वर्ण ।
गौगाय, पृथ्वी, इन्द्रियाँ ।
ग्रहणलेना, सूर्य-चन्द्र ग्रहण, दोष ।
गुणरस्सी, स्वभाव, कौशल, रज, सत और तमोगुण ।
घटघड़ा, हृदय, कम, शरीर ।
घनबादल, घना, भारी, हथौड़ा।
घरमकान, कुल, कार्यालय ।
चीरवस्त्र, रेखा, पट्टी, चीरना (क्रिया)।
जड़अचेतन, मूर्ख, वृक्ष का मूल ।
जवानसैनिक, योद्धा, वीर, युवा ।
जीवनपुत्र, वायु, प्राण, जिन्दगी, जल ।
चपलालक्ष्मी, बिजली।
तपसाधना, गर्मी, अग्नि, धूप।
तातपिता, भाई, पूज्य ।
तीरकिनारा, बाण ।
दलसमूह, सेना, पत्ता ।
दर्शनदेखना, दर्शनशास्त्र, नेत्र, आकृति, दर्पण ।
द्विजपक्षी, ब्राह्मण, चन्द्रमा, दाँत ।
धारणाविचार, बुद्धि, समझ, विश्वास, मन की स्थिरता ।
नगपर्वत, नगीना, वृक्ष ।
नवनया, नौ।
नायकनेता, मार्गदर्शन, नाटक के काव्य का मुख्य पात्र, सेनापति ।
नाकनासिका, स्वर्ग, आकाश, प्रतिष्टा ।
नागसाँप, हाथी, नाग-केशर।
पक्षतरफ, सहायक, दो सप्ताह ।
पटकपड़ा, पर्दा, चित्र का आधार, द्वार ।
पत्रपत्ता, चिट्ठी, पृष्ट, समाचार पत्र ।
पतंगपक्षी, गुड्डी, सूर्य, शलभ ।
पदपैर, छंद का एक चरण ।
पूर्वपहले, एक दिशा का नाम ।
पयदूध, पानी।
प्रसादकृपा, अनुग्रह, हर्ष, नैवेद्य।

अनेकार्थक (Words With Different Meanings) सारणी-3

शब्दभिन्न - भिन्न अर्थ
प्रकृतिकुदरत, स्वभाव, मूलावस्था ।
पानीजल, मान, चमक।
फलपरिणाम, लाभ, खाने का फल ।
भवसंसार, उत्पत्ति, शंकर ।
भुवनसंसार, जल, लोग, चौदह की संख्या ।
भृतिनौकरी, मज़दूरी, वेतन, मूल्य (जीवन निर्वाह के लिए मिलने वाला धन)।
भेदप्रकार, रहस्य, भिन्नता, फूट, तात्पर्य ।
भोगसुख-दुःख आदि का अनुभव, खाना, प्रारब्ध, नैवेद्य ।
मधुशहद, मदिरा, मधु ऋतु (वसंत) ।
मित्रसूर्य, दोस्त ।
मोहमूर्छा, अज्ञान, प्यार, ममता, आसक्ति ।
मतसम्मति, धर्म, वोट, नहीं।
लक्ष्यउद्देश्य, निशाना ।
लयडूबना, मिलना, स्वरों की संगीतात्मकता ।
वारदिन, आक्रमण, प्रहार ।
विषमजो सम न हो, कठिन, भयंकर, तीव्र, एक अर्थालंकार ।
विषयजिसके बारे में कुछ कहा
वृत्तिपेशा (प्रोफेशन), छात्रवृत्ति, कार्य, स्वभाव, नीयत ।
विज्ञजानकार, विद्वान्, बुद्धिमान् ।
वर्णरंग, रूप, अक्षर, भेद, वर्ण-विभाग-ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य आदि ।
विधिभाग्य, रीति, नियम, ब्रह्मा, व्यवस्था, भाँति ।
वरअच्छा, वरदान, उत्तम, पति, जिसके साथ कन्या का विवाह निश्चित हुआ हो।
लगनाक्रम से लगना, व्यय होना, काम में लगे होना, चोट पहुँचना ।
रसस्वाद, सार, पुस्तक पढ़ने या नाटक आदि देखने से प्राप्त आनन्द, प्रेम, सुख,पानी, शरबत, फलों का निचोड़ ।
रंगनाच-गान, नृत्य या अभिनय स्थान, वर्ण, रँगने की सामग्री, प्रेम, चाल, दशा।
श्यामाराधा, यमुना नदी, काले रंग की गाय, राम, स्त्री, कोयल ।
श्रीवेद, कान, सुनना, सुनी हुई बात ।
शिखीमोर, अग्नि, पर्वत ।
सारबल, खाद, लोहा, तत्व, निष्कर्ष, हीरा ।
सारंगमोर, कोयल, कमल, भ्रमर, साँप, बादल, मृग, पपीहा, हंस, कामदेव, धनुष।
सूतधागा, सारथी।
हरिविष्णु, सिंह, सर्प, सूर्य, इन्द्र, वानर ।
हरशिव, हर लेना (हरजा)।
हलसमाधान, खेत जोतने का यंत्र ।
हारपराजय, गले का हार।




Post a Comment

Previous Post Next Post