भाषा क्या होती है?

भाषा क्या होती है||भाषा के प्रकार||भाषा के भेद||भाषा का आधार||भाषा विज्ञान के प्रकार||भाषा कितने प्रकार की होती है।

भाषा क्या होती है||भाषा के प्रकार||भाषा के भेद||भाषा का आधार||भाषा विज्ञान के प्रकार||भाषा कितने प्रकार की होती है।


भाषा क्या होती है :- 

मानव एक सामाजिक प्राणी है। संसार में वह अकेला नहीं रह सकता,बल्कि वह समाज बनाकर रहता है। समाज में रहते हुए वह अपने विचारों का दूसरों के साथ आदान-प्रदान करता है। चाहे बच्चा हो, जवान हो या बूढ़ा । सभी अपने विचार दूसरों तक पहुँचाने के लिए बेचैन रहते हैं। विचारों के आदान-प्रदान के लिए ही भाषा का जन्म हुआ।विचारों का आदान-प्रदान तो संकेतों द्वारा या स्पर्श द्वारा भी हो सकता है, लेकिन ये साधन पूर्ण नहीं हैं। सर्वाधिक सरल एवं सफल साधन तो भाषा ही है । भाषा वह है जो बोली जाती है और सभ्य मानव जाति द्वारा जिसका प्रयोग होता है । भाषा शब्द 'भाष्' धातु से बना है जिसका अर्थ है -ध्वनि करना या बोलना । अतः ध्वनियों के माध्यम से विचारों के आदान-प्रदान के साधन को भाषा कहते हैं ।

भाषा की परिभाषा - 

विचारों के आदान-प्रदान के लिए जिन स्पष्ट ध्वनि-संकेतों का व्यवहार किया जाता है, उन्हें भाषा कहते हैं ।

भाषा के प्रकार कौन से हैं? :-

बोलने और लिखने के आधार पर इसके दो भेद किये जाते हैं :

1. मौखिक (Oral) भाषा, 

2. लिखित (Written) भाषा ।

समीप अथवा निकटवर्ती मनुष्य के लिए मौखिक भाषा तथा दूर बैठे व्यक्ति के लिए लिखित भाषा का प्रयोग होता है। मनुष्य अपने दैनिक जीवन में प्रायः दोनों तरह की भाषाओं का प्रयोग करता है । जो कुछ हम कहते हैं अथवा सुनते हैं, वह मौखिक भाषा है और जो कुछ हम पत्रादि द्वारा लिखकर प्रकट करते हैं, वह लिखित भाषा है, अतः भाषा के दोनों रूप ही हमारे कार्य-व्यापार को चलाते हैं। मनुष्य संकेतों से भी दूसरे का भाव प्रायः समझ सकता है, परन्तु इनमें स्पष्टता और सरलता की अधिक गुंजाइश नहीं होती। हम देखते हैं कि स्काऊट झण्डियों की मदद से अपने विचारों का लेन-देन कर लेते हैं । चोर अन्धेरे में एक-दूसरे को छूकर अपनी बात समझा देते है, परन्तु इस प्रकार के सभी उपाय अधूरे तथा इतने सफल और सार्थक नहीं हैं । इनसे कार्य-व्यापार का भली-भांति निर्वाह सम्भव नहीं ।

भाषा का आधार क्या है?:- 

भाषा ध्वनियों से बनती है, परन्तु ध्वनियाँ अनन्त है । प्रत्येक भाषा अपने लिए कुष्ठ ध्वनियों को अपना लेती है । इन ध्वनियों से शब्द तथा शब्दों से वाक्य बनतेहै। वाक्यों के समूह को भाषा काते है। मानव इन्हीं वाक्यों द्वारा अपने विचार प्रकट करता है और दूसरे के विचार ग्रहण करता है ।

भाषा की एक अन्य परिभाषा

जिस साधन के द्वारा मनुष्य अपने भावों और विचारों को बोलकर या लिखकर प्रकट करता है, उसे भाषा कहते हैं।

भाषा के भेद कौन से हैं?

संसार में अनेक भाषाएँ है। प्रत्येक भाषा किसी विशेष समाज अथवा भू-भाग में बोली और लिखी जाती है। अतः भाषा के प्रान्तीय और स्थानीय भेद भी होते है । इन भेदों को विभाषा,उपभाषा आदि करते हैं। बोली का क्षेत्र इनसे भी छोटा होता है। प्रत्येक देश में छोटी-मोटी भाषाओं के अतिरिक्त एक मुख्य भाषा होती है, जिसका प्रचलन तथा व्यवहार अन्य भाषाओं की अपेक्षा अधिक व्यापक होता है। सभी प्रकार के राजकीय कार्यों में इसी की प्रधानता होती है। अधिक से अधिक लोग इस भाषा का प्रयोग करते हैं। यह भाषा सारे देश को एक सूत्र में बाँधती है। इसीलिए यह भाषा राष्ट्रभाषा (National Language) कहलाती है। भारतवर्ष की हिन्दी, इंग्लैंड की अंग्रेजी, फ्रांस की फ्रेंच और जर्मनी की जर्मन इत्यादि भाषाएं अपने-अपने हिन्दी देशो की राष्ट्र-भाषाएँ कहलाती हैं।

राष्ट्रभाषा से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न:-

1. निम्न में से कौन सी भाषा भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में वर्णित नही है?

(a) नेपाली

(b) कश्मीरी

(c) सिन्धी

(d) अंग्रेजी


2. ‘डोगरी’ भाषा भारत के किस राज्य क्षेत्र में बोली जाती है?

(a) जम्मू और कश्मीर की

(b) पुदुचेरी

(c) अंदमान एवं निकोबार द्वीप समूह

(d) नागालैंड


3. अरुणाचल प्रदेश में कौन सी मुख्य क्षेत्रीय भाषा है?

(a) असमिया

(b) बोडो

(c) अंग्रेजी

(d) डोगरी


4. यदि किसी व्यक्ति को उच्चतम न्यायालय में कोई जनहित याचिका लगानी हो तो याचिका किस भाषा में लिखी जानी चाहिए?

(a) 22 भाषाओँ में से किसी भी भाषा में

(b) याचिकाकर्ता अपनी मातृ भाषा में

(c) केवल अंग्रेजी में

(d) हिंदी या अंगेजी में


5. भारतीय संविधान में राजभाषाएं किस अनुसूची में वर्णित है?

(a) अनुसूची 5

(b) अनुसूची 6

(c) अनुसूची 7

(d) अनुसूची 8


6. वर्तमान में भारतीय संविधान में कितनी राजभाषाएं वर्णित हैं?

(a) 24

(b) 22

(c) 14

(d) 25




1 Comments

Previous Post Next Post